Hindi Shayari Sad

किसीके दिल में बसना बुरा तो नहीं,

किसीको दिल में बसना खता तो नहीं,

गुनाह हो यह ज़माने की नज़र में तो क्या हुआ,

जमानेवाले भी इंसान है खुद तो नहीं

 

रब जाने तू मेरा अपना है या बेगाना

पर अच्छा लगता है तेरे साथ हर पल बिताना

रिश्ता तो पता नहीं मेरा क्या है तेरे साथ

पर अच्छा लगता है तेरे खवाबो में आना

 

वादें  भी दोस्तों ने क्या खूब निभाए,

ज़ख्म मुफ्त और दर्द तोफेह में भिजवाये,

इस से बढ़कर वफादारी की मिसाल क्या होगी,

की मौत से पहले दोस्त कफ़न ले आये

 

ना चाहो हमें, चाहतों से दर लगता है,

न  आओ इतना करीब, जुदाई से डर लगता है,

आपकी वफाओं पे भरोसा है मगर,

अपने मुक़द्दर से डर लगता है

 

आह भरते है मगर रो नहीं सकते,

जान हाज़िर है मगर दे नहीं सकते,

आरज़ू दिल में है मगर कह नहीं सकते ,

दोस्ती की है मगर मिल नहीं सकते
Hindi Shayari Sad

खता है हम साथ रह ना पाए,

एक दूसरे से कभी कुछ कह ना पाए,

इतनी नज़दीकियां ना बढाओ की

हम दूरियां सह ना पाए

 

फुरसत किसे है,ज़ख्मो पे मरहम लगाने की,

निगाहे बदल गयी अपने और बेगाने की,

तुम ना छोड़ना दोस्ती का हाथ कभी,

वरना तमन्ना ना रहेगी नए दोस्त बनाने की

 

तमाशा ना बन जाये कहीं मेरी मोहबात ,

इसलिए अपने दर्द को अक्सर ज़ाहिर नहीं करता .

जो कुछ मिला हैं उसी मैं खुश हूँ मैं,

उसके लिए खुद से तकरार नहीं करता ,

पर कुछ तो बात हैं उसकी फितरत मैं ज़ालिम

वर्ना उसे चाहने की खता बार बार नहीं करता

 

अपने प्यार को छुपाना चाहा पर छुपा ना सके ,

दीवाने दिल पर काबू पा ना  सके ,

आज इतने करीब से गुजर गए वो

फिर भी उनका हाथ थाम ना सके

 

तुम दूर जाकर इतना इतरा रहे हो ,

कभी हम गए तो भुला ना पाओगे ,

हँसना जिसे आदत समझ बैठे हो हमारी ,

कभी हम रोये तो हँसा ना पाओगे