Dard e Dil Shayari

आप हमको भूला दोगे एक छोटी सी भूल पर,

छोड़ कर चल डोज एक अनजाने से मोड़ पर,

अगर जरूरत पड़े तो आवाज दे लेना,

हम आज भी खड़े है उसी मोड पर

 

एक रोज़ तुम ने,थामा था हाथ मेरा,

मेरे हाथ से तुम्हारे हाथ की,ख़ुशबो नहीं जाती

तुम बहुत प्यार से, पुकारते थे नाम मेरा

मेरे कानो से तुम्हारी वो आवाज़ नही जाती

 

मैं बुलाती भी नहीं थी और तुम आ जाते थे,

अब बुलाने पर भी मेरी आवाज़ तुम तक नहीं जाती,

मैं जानती हूं ये शहर ये रस्ते तुम्हारे नही,

फिर भी मेरी आँखों से इंतज़ार की आदत नई जाती

 

एक लहर सी उठ रही है मन में मेरे

क्या दिल ये मेरा बेकरार है

क्या ये सिर्फ मेरे दिल की पुकार है

या शायद इसी का नाम प्यार है

 

जब भी दिल करे पुकार लेना

मैं दौड़ा आऊंगा

इतना प्यार है तुमसे कि

मौत से भी लड़ जाऊंगा

 

किस क़दर दिल नशीन है ये मौजों का शोर,

ग़म का दरिया रुके, हम नहीं चाहते,

इस क़दर प्यार से तू पुकारा ना कर,

आग दिल को लगे, हम नहीं चाहते

 

तुम्हे ये ज़िद है के हम बुलाते,

हमे उम्मीद के वो पुकारें,

है नाम होंटों पे अब भी लेकिन,

आवाज़ में पड़ गए दरारें

Dard e Dil Shayari

Dard e Dil ShayariDard e Dil Shayari